Header

आप अपना योगदान निम्न प्रकार से कर सकते हैं

1 - यदि आप प्रकाशक है या किसी ऐसे पुस्तकों के प्रकाशक को जानते हैं जिनका हमारी वैबसाइट पर आना देश हित में आवश्यक हो तो उन पुस्तकों को ई कापी बना कर हमारे पास भेज सकते हैं ।
2 - आप हमें आर्थिक सहायता सांस्कृतिक गौरव संस्थान , पोस्ट बाक्स न0 5016 , सैक्टर 5 आर के पुरम नई दिल्ली , इस पते पर भेज सकते हैं । सांस्कृतिक गौरव संस्थान को भारतीय आयकर अधिनियम की धारा 80 - जी के अंतर्गत छूट प्राप्त है। इस छूट के अंतर्गत दानदाता को आयकर में 50 प्रतिशत की छूट प्राप्त होती है। संस्थान विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम ( एफ सी आर ए ) के अधीन भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अंतर्गत पंजीकृत है और इसे विदेशों से विदेशी पुद्रा में दान प्राप्त करने का अधिकार है । अपना दान सांस्कृतिक गौरव संस्थान के नाम से भेज कर पुण्य लाभ उठांए ।
3 - आप अन्य उपयोगी सुझाव भी हमें ई मेल कर सकते है ।
4 - आप हमारी वैबसाइट पर अपने विज्ञापन भी दे सकते है ।
5 - आप हमारे संगठन में खुद प्रत्यक्ष रूप से जुडकर भी हमारी सहायता कर सकते हैं ।
6 - आप हमारी साइट का प्रचार करके भी अन्य लोगों को जागृत कर सकते हैं । आप Orkut पर हमारी Community में भी जुड़ सकते हैं । Hindusthangaurav
७ - आप हमारे संगठन के आजीवन सदस्य मात्र १००० रु० देकर बन सकते हैं जिसमें हमारी द्विमासिक पत्रिका गौरव घोष आपको निशुल्क आजीवन प्राप्त होगी एवं यदि आप आजीवन सदस्य न बनकर केवल पुस्तक प्राप्त करना चाहते हैं तो इसका शुल्क मात्र ८०० रु० है ।
गौरव घोष का आजीवन सदस्य बनने व संगठन का आजीवन सदस्य बनने के लिए बैंक ड्राफ्‌ट सांस्कृतिक गौरव संस्थान के नाम पर निम्नलिखित पते पर भेजने की कृपा करें
श्री देवेन्द्र मित्तल
डी-३/३३०८,
वसन्त कुंज,
नई दिल्ली - ७०
Footer